हनुमान एआई क्या है? भारतीय एआई टूल्स Hanooman AI

हनुमान एआई क्या है? भारतीय एआई टूल्स Hanooman 

आज की इस टेक्नोलॉजी को आप सभी बहुत अच्छी तरह से जानते है जहा आप ने भविष्य में क्या हो सकता है कुछ सोचा नहीं और वो चीजे आपके सामने तैयार होती है ऐसी ही बात मैं आपको बताने जा रहा हु जिससे आपको आपके भारतीय होने पर गर्व होगा जैसे की आप सभी ने ChatGpt क्या है ? इसके बारे में सुना ही होगा तो आपको चैट जीपीटी के बारे में मालूम होगा 

एक बड़े कम्पनी  के सीईओ ने एक रिपोर्टर के सवाल - की सभी  कंपनी इंडिया के लोगो को ही ज्यादा जॉब  पर क्यों रखते है तो , उस पर जवाब में कहा था की अगर हम इंडिया के लोगो को जॉब नहीं देंगे तो इंडिया लोग अपने खुद का गूगल , फेसबुक, यूट्यूब बना लेंगे। 

हनुमान एआई क्या है? भारतीय एआई टूल्स Hanooman AI
Hanooman AI


और यह बात सही शाबित हो रही है भारत में अब हर क्षेत्र में विकाश हो रहा है और जनरेटिव एआई टूल्स के मार्केट नई कंपनियां जुड़ती जा रही हैं। इस सूची में भारत भी पीछे नहीं है। हाल ही में भारतीय एआई प्लेटफॉर्म हनुमान मार्केट में आ गया है। सीता महालक्ष्मी हेल्थकेयर (SML. इंडिया) और आबू धाबी बेस्ड 3 एआई होल्डिंग लिमिटेड कंपनी ने मिलकर इस एआई प्लेटसॉर्म को तैयार किया है। कंपनी का कहना है कि इस लॉन्चिंग के माध्यम से वह भारत में जनरेटिव एआई इकोसिस्टम स्थापित करना चाहती है। इस एआई मॉडल को 98 वैश्विक भाषाओं में काम करने के हिसाब से तैयार किया गया है।

यह भी पढ़े :- China की लड़किया डेट कर रही एआई चैटबोट को। अब ऐसा भी चलन

इस एआई प्लेटफॉर्म को फिलहाल एंड्रॉयड यूजर्स प्लेस्टोर से डाउनलोड कर सकते हैं। वहीं एपल यूजर्स को इसके एप के लिए अभी थोड़ा इंतजार करना पड़ेगा। लेकिन एपल और एंड्रॉयड दोनों यूजर्स इसके वेब वर्जन का इस्तेमाल कर सकते हैं। अभी हनुमान के प्रीमियम मॉडल का इस्तेमाल पूरी तरह से फ्री है। लेकिन साल के अंत तक इसका प्रीमियम वर्जन जारी किया जा सकता है, जो कि शुल्क के साथ आ सकता है। इस साल के अंत तक कंपनी 20 करोड़ यूजर्स जोड़ना चाहती है। यह टूल स्टूडेंट, बिजनेसमैन, डॉक्टर्स हर क्षेत्र में काम कर रहे लोगों के लिए उपयोगी साबित हो सकता है।

चलिए जानते है की हमारा ये  हनुमान एआई क्या क्या कर सकता है 

 क्या काम कर सकता है हनुमान एआई

बहुभाषायी कम्युनिकेशनः हनुमान एआई की खास बात ये है कि इसमें 98 वैश्विक भाषाओं का सपोर्ट दिया गया है। इसके साथ ही इसमें 12 भारतीय भाषाओं में काम करने की भी क्षमता है। इनमें हिंदी, तेलुगु, मलयालम, मराठी, गुजराती, बंगाली, कन्नड़, पंजाबी, सिंधी जैसी भाषाएं शामिल हैं। यूजर्स इनमें से किसी भी भाषा में अपने टास्क पूरे करवा सकते हैं। 

  • कंटेंट क्रिएशन एंड टेक्निकल टास्कः इस प्लेटफॉर्म की मदद से रचनात्मक अंदाज में टेक्स्ट लिखवाया जा सकता है। साथ ही जटिल सूचनाओं को आसान तरीके से यह यूजर्स कोबता सकता है। इसके साथ ही इसकी मदद से टेक्निकल टास्क और गणितीय जटिलताओं को सुलझाया जा सकेगा।

  • वर्चुअल असिस्टेंटः इस एआई की खास बात यह है कि यूजर्स इसे किसी वर्चुअल असिस्टेंट की तरह उपयोग कर सकेंगे। यह यूजर्स के साथ बातचीत में शामिल भी हो सकेगा और किसी विषय विशेष पर हो रही चर्चा में मार्गदर्शन भी कर सकेगा।

  • टेक्स्ट टु इमेज व वीडियो : इससे टेक्स्ट प्रॉम्प्ट की मदद से फोटो व वीडियो बनाए जा सकेंगे। इसके साथ ही रियल टाइम में टेक्स्ट सेकोड भी जनरेट किए जा सकेंगे।

  • डॉक्यूमेंट एनालाइजः इसकी मदद से डॉक्यूमेंट्स को एनालाइज किया जा सकेगा। यह एआई की मदद से डॉक्यूमेंट को स्कैन कर उसमें मौजूद जरूरी बातों और आंकड़ों को यूजर्स के सामने रखता है। डॉक्यूमेंट्स को आसान भाषा में समझाता है।

  • कम्प्युट विजन: यह एआई पेशंट और डॉक्टर को बीमारियों को डायग्नोसिस करने में मदद कर सकता है। पेशंट के एक्स रे, सोटी स्कैन जैसी रिपोर्ट को देखकर यह एआई उसके बारे में पूरी और सटीक जानकारी दे सकता है।

कैसे उपयोग करे हनुमान एआई को 

1- सबसे पहले हनुमान एआई को प्लेस्टोर से डाउनलोड करें या हनमान एआई के वेव वर्जन पर जाएं।

2- फिलहाल ये सिर्फ एंड्रॉयड के लिए ही उपलब्ध है। एपल यूजर्स के लिए एप अभी नहीं है लेकिन वेब वर्जन इस्तेमाल कर सकते हैं।

3- अब यहां पर अपना मोबाइल नंबर दर्ज करें। इसके बाद ओटीपी दर्ज करें व अपना नाम लिखें।

4- इसके बाद आप अपनी पसंदीदा भाषा चुनकर हनुमान एआई का इस्तेमाल कर सकते हैं।

आप निचे देख सकते है की हमने हनुमान एआई से कुछ सवाल भी पूछे है जिसके जवाब हमें कुछ इस तरह  मिले है - 





एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ